Poka Yoke in Hindi | Error Proofing | Mistake Proofing in Hindi

Contents hide
1 Poka Yoke in Hindi | Error Proofing | Mistake Proofing in Hindi

 Poka Yoke in Hindi | Error Proofing | Mistake Proofing in Hindi

Poka Yoke in Hindi | Error Proofing | Mistake Proofing in Hindi:-What is Poka Yoke in Hindi या Poka Yoke Definition in Hindi या Error Proofing in Hindi या Mistake Proofing in Hindi इस सभी सवालों के जबाब इस लेख मे आपको जरूर मिलेंगे। तो आइए सीखते है की पोका-योके क्या होते है?

What is Poka Yoke in Hindi? (Poka-Yoke क्या होते है?)

Poka Yoke (”ポカ” ”ヨケ”) एक जापानी शब्द है जिसका मतलब होता है की Mistake Proofining या Error Proofing या “गलती से भी गलती नही हो” होता है। पोका योके की अवधारणा जापान के Shingeo Shingo ने दि थी। 

एक पोका-योक एक प्रक्रिया में कोई भी तंत्र है जो एक उपकरण ऑपरेटर को मानवीय त्रुटियों को रोकने, सुधारने या ध्यान आकर्षित करके गलतियों या दोषों से बचने में मदद करता है।

Poka Yoke एक ऐसा तरीका है जिसमे हम किसी प्रोसेस मे गलती को होने से रोकते है। इसका मतलब है हम प्रोसेस मे कोई ऐसा तरीका लगाते है जिससे प्रोसेस मे कोई गलती करना चाहे भी तो गलती नहीं हो। 

Poka Yoke in Hindi | Error Proofing | Mistake Proofing in Hindi
What is Poka Yoke in Hindi

यह भी पढ़ें 

7 Quality Control Tools in Hindi?

Work Instruction in Hindi?

Definition of Poka Yoke in Hindi (पोका योके की परिभाषा क्या होती है?)

एक पोका-योक एक प्रक्रिया में कोई भी तंत्र है जो एक उपकरण ऑपरेटर को मानवीय त्रुटियों को रोकने, सुधारने या ध्यान आकर्षित करके गलतियों या दोषों से बचने में मदद करता है।

Poka Yoke Examples in Hindi? (पोका योके के विभिन्न उदाहरण काया है?)

Poka Yoke के उदाहरण:-पोका योके के कई प्रकार के उदाहरण हो सकते है। 

1.जब आप कंप्यूटर मे डाटा केबल या पेन ड्राइव लगाते है तो वह एक ही तरफ से लगाई जा सकती है दूसरी तरफ से लगाने पर वह लगती नहीं है। 

2.मोबाईल मे चार्जर की पिन एक ही तरफ से लगाई जा सकती है दूसरी तरफ से लगाने से वह कोनेक्ट नहीं होती है। 

3.वैल्डिंग करते समय वेल्डर अपनी आँखों पर चश्मा या फाके शील्ड लगता है जिससे वह वैल्डिंग की लाइट से आँखों को बचा लेता है। 

4. किसी असेंबली लाइन पर कई प्रकार के प्रोसेस एक प्रोडक्ट पर हो रहे है और उस प्रोडक्ट मे पहले प्रोसेस मे दो छेद किए जाते है तो हमे तीसरे प्रोसेस पर फिक्स्चर या जिग मे दो पीन्स लगाने होगी जिससे वह पार्ट उस फिक्स्चर मे नहीं आएगा और ऑपरेटर को पता चल जाएगा की दूसरा प्रोसेस इस पार्ट पर नही हुआ है।

यह भी पढ़ें 

7 Quality Control Tools in Hindi? 

What is History of Poka-Yoke in Hindi? (पोका-योके का इतिहास क्या है?)

Poka Yoke को जापान के Shingeo Shingo ने 1960 मे टोयोटा प्रोडक्सन सिस्टम के रूम मे इन्ट्रोडूस किया था। पोका-योक शब्द को 1960 के दशक में शिगो शिंगो द्वारा मानवीय त्रुटियों को रोकने के लिए डिज़ाइन की गई औद्योगिक प्रक्रियाओं में लागू किया गया था। शुरूआत मे Baka-Yoke बोला जाता था जिसका मतलब  Fool Proofing या Idiot Proofing होता है जिसे बाद मे Poka-Yoke कर दिया गया।  

Shingeo Shingo ने एक प्रक्रिया को फिर से डिजाइन किया जिसमें कारखाने के कर्मचारी को एक छोटे से स्विच को असेंबल करते समय अक्सर स्विच बटन में से एक आवश्यक स्प्रिंग डालना भूल जाते थे, तब इन्होंने कहा पहले दो आवश्यक स्प्रिंग्स लो और उन्हें प्लैट में रखो, फिर प्लैट से स्प्रिंग को स्विच में डालो, जब एक स्प्रिंग प्लैट में रहता है, तो श्रमिकों को पता लग जाएगा की वह इसे डालना भूल गए हैं और आसानी से गलती को ठीक कर सकते हैं।

पोका योके का मुख्य उद्देश्य :-गलतियों को होने से रोकना।  (To Prevent Mistakes)

Types of Poka Yoke in Hindi? (पोका योके के कितने प्रकार के होते है?)

Prevention Poka Yoke:-इस प्रकार के पोका योके मे गलती को होने से रोकते है। 

Detection Poka Yoke:-इस प्रकार के पोका योके मे हम गलती होने देते है परंतु कुछ ऐसा सिस्टम लगा देते है जिससे गलती को आसानी से पहचाना जा सके और उसे जल्दी ही सुधारा जाए। 

Control Poka Yoke:-इस प्रकार कर पोका योके मे, इस प्रकार का तंत्र लगा दिया जाता है जिससे कोई चाहते हुए भी गलती नहीं कर पाए। जैसे:-USB को लगाना। 

Warning Poka Yoke:-इस प्रकार के पोका योके मे गलती से बचाव नहीं किए जाता है परंतु इसमे गलती होने से पहले वार्निंग आती है किसी रंग, अलार्म, मैसेज के रूप मे। ATM मशीन मे गलत तरीके से कार्ड को लगाना। 

How to Poka Yoke Implementation in Manufacturing in Hindi (पोका योके को कैसे लागू करें?)

पोका-योक को निर्माण प्रक्रिया के किसी भी चरण में लागू किया जा सकता है जहां कुछ गलत हो सकता है या कोई गलती हो सकती है

Shigeo Shingo ने बड़े पैमाने पर उत्पादन मे गलतीयों का पता का लगाने और उन्हे रोकने के लिए तीन प्रकार के पोका योके को बताया:-

  1. Contact Method (संपर्क विधि):-उत्पाद के आकार, आकार, रंग या अन्य भौतिक विशेषताओं का परीक्षण करके उत्पाद दोषों की पहचान करती है।
  2. Fixed Value Method:-ऑपरेटर को सावधान करती है की प्रोडक्ट की मांग के अनुसार फिक्स वैल्यू आ रही है या नहीं आ रही है। 
  3. Sequence Method:-इस विधि मे पता चलता है की प्रोडक्ट अपने क्रम से चल रहा है या नहीं चल रहा है। 

Shigeo Shingo ने बताया की किसी भी निर्माण प्रक्रिया मे गलतीयां हो सकती है लेकिन अच्छा पोका योक लगाया जाता है तो गलतियों को रोका और समाप्त किया जा सकता है जिससे कंपनी मे लागत कम हो जाती है।

यह भी पढ़ें 

7 Quality Control Tools in Hindi?

Fishbone Diagram in Hindi

What are Benefits of Poka Yoke Implementation in Hindi? (पोका योके को लागू करने के क्या लाभ होते है?)

  1. वर्कर्स को प्रशिक्षण (Training) के लिए कम समय देना पड़ता है। 
  2. गुणवत्ता संबंधित विभिन्न प्रोसेस को लागू करना। 
  3. बार-बार किए जाने वाले कार्यों से ऑपरेटरस को छुटकारा मिलना। 
  4. समस्या होने पर उस पर तुरंत कार्यवाही करना। 
  5. डिफेक्ट ग्राहक तक नहीं पहुचना। 
  6. गुणवत्ता मे सुधार। 
  7. दुर्घटनाओ मे कमी आना। 
  8. वर्कर्स के मनोबल मे वृद्धि होना। 
  9. रीजेक्शन मे कमी होना। 
  10. प्रॉब्लेम आने से पहली ही सुधार करना। 
  11. 100 प्रतिशत गुणवत्ता नियंत्रण होना। 

What are Usage of Poka Yoke in Hindi? (पोका योके के क्या उपयोग होते है?)

पोका योके के बारे मे व्यापक रूप कहा जाए तो उपयोकर्ता द्वारा गलत संचालन को रोकना होता है। 

किसी असेंबली लाइन पर पेकिंग के लिए जाते समय पार्ट्स के बीच मे अनचाही वस्तु आ जाने पर सेंसर उस पार्ट को पकड़ लेता है और उस अनचाही वस्तु को पेक होने नहीं देता है। 

Poka Yoke PDF Download in Hindi?

Download Link 1                  Download Link 2

Password:-rna.net.in

यह भी पढ़ें 

 

Cycle Time vs Lead Time vs Takt Time vs Throughput Time in Hindi?
How to Calculate UPH & UPPH in Hindi? 
What is Fishbone Diagram in Hindi? 

What is OEE in Hindi?

What is TPM in Hindi?

FAQ

What is poka-yoke with example?
पोका योके क्या होते है उनके उदाहरण क्या है?

एक पोका-योक एक प्रक्रिया में कोई भी तंत्र है जो एक उपकरण ऑपरेटर को मानवीय त्रुटियों को रोकने, सुधारने या ध्यान आकर्षित करके गलतियों या दोषों से बचने में मदद करता है।
उदाहरण:-
1.जब आप कंप्यूटर मे डाटा केबल या पेन ड्राइव लगाते है तो वह एक ही तरफ से लगाई जा सकती है दूसरी तरफ से लगाने पर वह लगती नहीं है। 
2. किसी असेंबली लाइन पर कई प्रकार के प्रोसेस एक प्रोडक्ट पर हो रहे है और उस प्रोडक्ट मे पहले प्रोसेस मे दो छेद किए जाते है तो हमे तीसरे प्रोसेस पर फिक्स्चर या जिग मे दो पीन्स लगाने होगी जिससे वह पार्ट उस फिक्स्चर मे नहीं आएगा और ऑपरेटर को पता चल जाएगा की दूसरा प्रोसेस इस पार्ट पर नही हुआ है। 

What are the types of poka-yoke?
पोका योके कितने प्रकार के होते है?

Prevention Poka Yoke:-इस प्रकार के पोका योके मे गलती को होने से रोकते है। 
Detection Poka Yoke:-इस प्रकार के पोका योके मे हम गलती होने देते है परंतु कुछ ऐसा सिस्टम लगा देते है जिससे गलती को आसानी से पहचाना जा सके और उसे जल्दी ही सुधारा जाए। 
Control Poka Yoke:-इस प्रकार कर पोका योके मे, इस प्रकार का तंत्र लगा दिया जाता है जिससे कोई चाहते हुए भी गलती नहीं कर पाए। जैसे:-USB को लगाना। 
Warning Poka Yoke:-इस प्रकार के पोका योके मे गलती से बचाव नहीं किए जाता है परंतु इसमे गलती होने से पहले वार्निंग आती है किसी रंग, अलार्म, मैसेज के रूप मे। ATM मशीन मे गलत तरीके से कार्ड को लगाना। 

What is poka-yoke and its benefits?
पोका योके क्या होते है और उसके लाभ क्या है?

एक पोका-योक एक प्रक्रिया में कोई भी तंत्र है जो एक उपकरण ऑपरेटर को मानवीय त्रुटियों को रोकने, सुधारने या ध्यान आकर्षित करके गलतियों या दोषों से बचने में मदद करता है।
पोका योके के निम्न लाभ होते है:-
1.वर्कर्स को प्रशिक्षण (Training) के लिए कम समय देना पड़ता है। 
2.गुणवत्ता संबंधित विभिन्न प्रोसेस को लागू करना। 
3.बार-बार किए जाने वाले कार्यों से ऑपरेटरस को छुटकारा मिलना। 
4.समस्या होने पर उस पर तुरंत कार्यवाही करना। 
5.डिफेक्ट ग्राहक तक नहीं पहुचना। 
6.गुणवत्ता मे सुधार। 
7.दुर्घटनाओ मे कमी आना। 
8.वर्कर्स के मनोबल मे वृद्धि होना। 
9.रीजेक्शन मे कमी होना। 
10.प्रॉब्लेम आने से पहली ही सुधार करना। 
11.100 प्रतिशत गुणवत्ता नियंत्रण होना। 

What Is mistake proofing in Six Sigma?
Six Sigma मे Mistake Proofing क्या होती है?

एक पोका-योक एक प्रक्रिया में कोई भी तंत्र है जो एक उपकरण ऑपरेटर को मानवीय त्रुटियों को रोकने, सुधारने या ध्यान आकर्षित करके गलतियों या दोषों से बचने में मदद करता है।

What is difference between Kaizen and Poka Yoke?
पोका योके और काइज़ेन मे क्या अंतर होता है?

पोका योके:-
एक पोका-योक एक प्रक्रिया में कोई भी तंत्र है जो एक उपकरण ऑपरेटर को मानवीय त्रुटियों को रोकने, सुधारने या ध्यान आकर्षित करके गलतियों या दोषों से बचने में मदद करता है।
काइज़ेन:-
काइज़ेन एक जापानी शब्द है जिसका मतलब “अच्छे के लिए सुधार” होता है। इस प्रक्रिया मे हम डेली की आने वाली समस्याओ को हाल करने के उपाय करते है जिन्हे काइज़ेन कहा जाता है।

यह भी पढ़ें 

7 Quality Control Tools in Hindi?

Work Instruction in Hindi?

UPH & UPPH in Hindi

Fishbone Diagram in Hindi

Share On

Leave a Comment